गोवा में मज़ा ( goa me maja )

गोवा में मज़ा ( goa me maja )

पिछले साल मैं गोवा घूमने के लिये गया। मैंने अपनी फलाइट जयपुर से ली और मैं दोपहर ठीक दो बजे गोवा पहुँच गया और अपने होटल की ओर चल दिया एअरपोर्ट कैब से।
पहले दिन तो मैं बीच पर नहीं गया, मैं रात को डिस्को और क्लब में ही गया।
दूसरे दिन मैं तैराकी का सारा सामान लेकर बग्गा बीच पर पहुँच गया। मैंने वहाँ पर बीच के सामने एक रेस्तराँ से बीच-बेड लिया और मैं बिना शर्ट के केवल शॉर्ट्स में वहाँ लेट गया। मैं अकेला ही गया था गोवा और अकेला ही था। मैंने खाने के लिए कुछ आर्डर किया और पीने के लिए भी।
बीच बीच में मैं स्विम्मिंग भी कर आता। मेरे बीच बेड के पास दो बीच-बेड खाली थे तो वहाँ पर दो रशियन लड़कियाँ आई और उन दोनों ने वो दोनों बीच-बेड ले लिए। वहाँ वे दोनों ब्रा-पैंटी में लेट गई।
काफ़ी देर तक मैंने उनसे कोई बात नहीं की। थोड़ी देर में उन दोनों में जो ज्यादा खूबसूरत लड़की थी, से बात शुरु कर दी। उसका नाम नताशा था और दूसरी लड़की नीना भी खूबसूरत थी लेकिन उससे ज्यादा नहीं !
मैंने नताशा से बात शुरु कर दी तो उससे मुझे पता चला कि वो दोनों सहेलियाँ गोवा घूमने आई हैं। नीना से भी मैंने बात करने की कोशिश की लेकिन नीना को इतनी इंग्लिश नहीं आती थी। मैं उन दोनों से इतना घुल मिल गया था कि मैंने उनके लिए ड्रिंक आर्डर किया, कुछ खाने के लिए आर्डर किया तो उन्होंने मना नहीं किया।
नताशा ने मुझे बोला- लेट अस स्विम ! हम दोनों तैरने चले गए। मैं हेरान था कि वो मुझे पकड़ कर तैर रही थी, तैरते तैरते मैं उसके वक्ष पर हाथ लगा देता तो उसने मना नहीं किया। मेरा लण्ड पानी में ही एकदम खड़ा हो गया और उसकी चूत पर टकराने लगा।
फिर मैंने उसे कहा- नताशा, यू आर वेरी ब्यूटीफ़ुल !
तो वो हंस दी और उसने कहा- थैंक्स !
फिर मैंने उसे कहा- यूअर लिप्स अरे सो गुड ! कैन आई किस यू?
तो उसने मुझे कहा- ओ के !
तो मैंने उसके होंठ चूम लिए। फिर कई देर स्विम्मिंग के बाद हम बाहर आये तो उसने मुझे पूछा- कहाँ रुके हो?
मैंने बता दिया तो हम दोनों के होटल का फासला करीब दो किलोमीटर था।
उसने कहा- आप अच्छे हो, आप मुझे अच्छे लगे !
उसने मुझसे आग्रह किया- हम जिस होटल में रुके हैं, तुम भी वहाँ आ जाओ !
मैंने उसे कहा- ओके !
शाम को करीब छः बजे बीच पर से मैं अपने होटल गया, वो अपने होटल।
मैंने होटल मैनेजर से बात करके वहाँ से चेक आउट किया और उनके होटल में गया। वहाँ मुझे बड़ी मुश्किल से पैसे फ़ालतू देने के बाद कमरा मिला। उसने मुझे अपना कमरा नंबर बता दिया था तो मैं अपने कमरे में सामान रख कर उसके कमरे में गया तो वो अभी भी ब्रा-पैंटी में बैठी थी।
उसने कहा- गेट रेडी ! वी विल इट टुगेदर !
मैंने कहा- ओ के !
हम सब तैयार होकर होटल के बाहर मिले। करीब नौ बजे हम बग्गा बीच के सबसे बढ़िया रेस्तराँ में गए। वहाँ पर ड्रिंक एन्जॉय किए और खाना खाया।
फिर हम बीच के किनारे रात को बैठे थे, वहाँ भी मैंने उसके साथ काफ़ी देर तक चुम्बन किया और फिर उसे सेक्स के लिए कहा तो वो तैयार हो गई और बोली- बट नॉट हयर !
हम करीब एक बजे वहाँ से होटल पहुँचे तो वो अपने कमरे में चली गई नीना के साथ और कपड़े बदल कर मेरे कमरे में आई। वो अपनी नाइट-ड्रेस में बहुत खूबसूरत लग रही थी।
उसके आते ही मैंने उसे खूब चूमा। फिर उसने मेरे सारे कपड़े उतार दिए।
उसके बाद मैंने भी उसको उसकी नाईटड्रेस और ब्रा एंड पैंटी से आजाद कर दिया और बिस्तर पर लिटा कर उसकी चूचियाँ चूसने लगा।
करीब दस मिनट तक मैंने उसकी चूचियाँ चूसी, उसके बाद मैं धीरे धीरे नीचे आया और मैं उसकी चूत चाटने लगा।
देर तक चूत चाटने पर वो गर्म हो गई और उसकी चूत से पानी आने लगा और वो आह आह आहा ओयी ओह्ह्ह याह की आवाज़ निकालने लगी।
फिर उसने कहा- नाओ आई विल सक यूअर थिंग !
मैंने कहा- ओ के !
और मैंने उसके मुँह में अपना लण्ड दे दिया और वो उसे चूसने लगी। काफ़ी देर तक उसने मेरा लण्ड चूसा तो मैंने कहा- निकलने वाला है !
तो उसने कहा- निकलने दो, मैं पानी पीना चाहती हूँ !
तो कुछ देर बाद मेरा पानी निकला और वो सारा पानी पी गई।
फिर उसने करीब बीस मिनट बाद चूस चूस के मेरे लण्ड को फिर से खड़ा कर दिया और मुझे कहा- फ़क मी !
मैंने उसे अपने ऊपर आने के लिए कहा तो वो मेरे ऊपर आ गई और घप्प से चूत में लण्ड चला गया। वो लण्ड के ऊपर कूदने लगी और मस्ती से चुदवाने लगी।
आहा हां अहहः अहह्हहः हहहह्हा ह्हहः की आवाज़ उसके मुँह से निकल रही थी।
तब उसने कहा- मुझे घोड़ी बना कर चोदो !
मैंने उसे घोड़ी बनाया और उसे घपाघप चोदने लगा। थोड़ी देर के बाद उसने कहा- मैं दीवार के पास खड़ी होकर घोड़ी बनती हूँ, वहाँ चोदो !
तो मैंने वैसा ही किया। फिर हमने सोफा सेक्स किया। वो जोर शोर से चुदवा रही थी और आवाज़ निकाल रही थी।
30 मिनट तक उसे चोदन के बाद मेरा पानी निकलने वाला था तो मैंने उसे कहा- अन्दर लोगी या बाहर लोगी?
उसने कहा- मुँह में लूँगी मैं !
उसकी चूत से लण्ड निकाल कर मैंने उसके मुँह में दिया और 4-5 धक्के ही मारे कि मैं उसके मुँह में छुट गया।
तो यह थी मेरी और नताशा की गोवा में चुदाई !


0 comments:

Post a Comment

 

© 2011 Sexy Urdu And Hindi Font Stories - Designed by Mukund | ToS | Privacy Policy | Sitemap

About Us | Contact Us | Write For Us